d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52

Whatsapp पर कौन कर सकता है ग्रुप्स में ऐड, अब कंट्रोल करिए-

Follow on

Whatsapp यूजर्स को ऐसा ऑप्शन उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहा है, जिससे उन्हें ये ऑप्शन मिल जाएगा कि ये कंट्रोल कर सकेंगे कि कौन उन्हें किसी ग्रुप में ऐड कर सकता है.

वॉट्सऐप ग्रुप्स खुद में अलग सिरदर्दी हैं. हर ग्रुप नेचर अलग, प्रॉब्लम अलग. कभी-कभी तो चाहकर भी आप इनसे बाहर नहीं निकल सकते. लेकिन हो सकता है कि जल्दी ही वॉट्सऐप आपको ग्रुप्स के मामले में राहत दे सकता है.

रिपोर्ट्स हैं कि वॉट्सऐप यूजर्स को ऐसा ऑप्शन उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहा है, जिससे उन्हें ये ऑप्शन मिल जाएगा कि ये कंट्रोल कर सकेंगे कि कौन उन्हें किसी ग्रुप में ऐड कर सकता है.

अब तक ऐसा है कि कोई भी रैंडम कॉन्टैक्ट या कॉन्टैक्ट नंबर न सेव हो फिर भी, वो आपको किसी भी वॉट्सऐप ग्रुप में ऐड कर सकता है. लेकिन वॉट्सऐप के इस नए फीचर से आपको इस परेशानी से राहत मिल जाएगी.

खबर के मुताबिक, वॉट्सऐप iOS beta यूजर्स, जिन्होंने अगले iOS अपडेट में टेस्टफ्लाइट बीटा प्रोग्राम जॉइन किया है, उनके लिए ये फीचर ला रहा है.

ऐसे करें इस्तेमाल

– ये नया फीचर वॉट्सऐप सेटिंग्स के तहत उपलब्ध होगा.

– इसके लिए यूजर्स को पहले सेटिंग्स से होकर अकाउंट में जाना होगा.

– अकाउंट में जाकर प्राइवेसी पर क्लिक करिए.

– प्राइवेसी में ग्रुप्स का ऑपश्न होगा, उसपर क्लिक करिए.

– इसमें आपको ग्रुप इन्विटेशन के ऑप्शन दिखेंगे- Everyone, My Contacts और Nobody.

पहला ऑप्शन चुनने पर आपको कोई भी किसी ग्रुप में ऐड कर सकता है, माई कॉन्टैक्ट्स का ऑप्शन चुनने पर आपने जिन लोगों का नंबर अपने फोन में सेव कर रखा होगा, वो ही आपको किसी ग्रुप में ऐड कर सकेंगे. लेकिन अगर आप चाहते हैं कि कोई भी आपको किसी भी ग्रुप में ऐड न कर सके, तो आपको चुनना होगा नोबडी.

अगर आप ये ऑप्शन चुनेंगे, तो जब भी कोई आपको किसी ग्रुप में ऐड करने की कोशिश की, तो आपके पास पहले रिक्वेस्ट आएगी, जिसे आपके एक्सेप्ट करने के बाद ही आप उस ग्रुप में ऐड होंगे. ये रिक्वेस्ट 72 घंटों में एक्सपायर हो जाएगा.

हालांकि, रिपोर्ट ये भी है कि इसमें ग्रुप लिंक बनाने का फीचर भी ऐड किया जाएगा, जो ग्रुप बनने के बाद क्रिएट होगा. इससे किसी यूजर की प्राइवेसी सेटिंग के बावजूद उसे ग्रुप में ऐड किया जा सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52