d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52

तीन तलाक बिल पेश होने से पहले हंगामा, हंगामे के बीच तीन तलाक पर चर्चा

Follow on

शीतकालीन सत्र के 10वें दिन आज लोकसभा में एक बार में तीन तलाक पर पाबंदी लगाने वाले मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक 2018 पर चर्चा होगी. बीजेपी और कांग्रेस ने चर्चा के मद्देनजर अपने-अपने सांसदों को व्हिप जारी किया है. लेकिन फिलहाल लोकसभा में राफेल पर गतिरोध जारी है और कांग्रेस ने डील के जांच के लिए जेपीसी के गठन की मांग को सदन के भीतर एक बार फिर से दोहराया है.

लोकसभा में हंगामे के बीच तीन तलाक पर चर्चा. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के भाषण के साथ ही हंगामा. रविशंकर प्रसाद बोले कानून का धर्म से ताल्लुक नहीं. महिलाओं को सम्मान देने वाला है बिल. वहीं, बिल पर चर्चा से पहले विपक्ष ने जमकर हंगामा किया और बिल को स्टैंडिंग कमेटी को भेजने की मांग की. हिंदुओं के कानूनों को लेकर बीजेपी का जवाब. मीनाक्षी लेखी ने कांग्रेस पर लगाया तुष्टीकरण की राजनीति का आरोप. कांग्रेस नेता खड़गे बोले धार्मिक मामलों में दखल देने से बचे सरकार. ओवैसी ने भी बिल को ज्वाइंट सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग की.

सदन में मौजूद 256 सांसदों में से 245 सदस्यों ने इसके पक्ष में मतदान किया, जबकि 11 सदस्यों ने इसका खिलाफ अपना वोट दिया। इसके साथ ही सदन में असदुद्दीन ओवैसी के तीन संशोधन प्रस्ताव भी गिर गए। कई अन्य संशोधन प्रस्तावों को भी मंजूरी नहीं मिली।लोकसभा में बहुमत से पारित हुआ तीन तलाक विधेयक, कांग्रेस ने किया वॉकआउट |

कांग्रेस और एआईएडीएमके ने इस बिल के विरोध में वॉकआउट कर दिया और वोटिंग के दौरान मौजूद नहीं थे। इसके साथ ही समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने भी वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। इस बिल के खिलाफ लाए गए सभी संशोधन प्रस्ताव सदन में गिर गए। इससे पहले दिसंबर 2017 में भी लोकसभा से तीन तलाक बिल को मंजूरी मिल गई थी, लेकिन राज्यसभा में गिर गया था। इसके बाद सरकार को तीन तलाक पर अध्यादेश लाना पड़ा था। अब सरकार ने एक बार फिर से निचले सदन में संशोधित बिल पेश किया था।

लोकसभा से तीन तलाक बिल को मंजूरी मिल गई थी, लेकिन राज्यसभा में गिर गया था। इसके बाद सरकार को तीन तलाक पर अध्यादेश लाना पड़ा था। अब सरकार ने एक बार फिर से निचले सदन में संशोधित बिल पेश किया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52