d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52

सूर्य(surya) की रोशनी की कहानी

Follow on

सूर्या(surya) एक 19 साल का बहुत ही कंफ्यूज़(confuse)ओर सुपर इंटलीजेंट(intelligent) लड़का,पता नही किस बात से डरता था।
होली का दिन चारो तरफ रंग ही रंग अचानक(suddenly) उस ने अपनी फेसबुक खोली एक आदरनिये पुरूष Mr. मल्होत्रा को मेसेज किया यूँही बिना कुछ सोचे समझे।
सूर्या-हैप्पी(happy) होली अंकल जी प्रणाम।
Mr.मल्होत्रा-खुश रहो बेटा,कैसे हो..?
सूर्या-मै अच्छा हूँ अंकल(uncal) जी।
Mr. मल्होत्रा-ओर बेटा जी क्या करते हो आज कल..?
सूर्या(surya)-c.a. की तैयारी अंकल जी।
Mr. मल्होत्रा-बहुत अच्छा(best)।
अरे ओ पागल…. मैं रोशनी हूँ, पापा को क्यों मैसेज किया..??
(रोशनी सूर्या(surya) की बचपन की दोस्त, जिसे उसने 4 साल से देखा भी नहीं हैं)
सूर्या-मैंने तो ऐसे ही मैसेज कर दिया, मुझे नही पता था कि ये account तुम चला रही हों।
रोशनी-सुन मेरे account पर मैसेज कर,request भेज दी हैं।
(यहां से एक sweet love story शुरू होती हैं, जो शुरू तो बचपन मे ही हो गयी थी पर अब कुछ magic होगा)
दोनों ने कुछ अपनी कही कुछ एक दुसरे की सुनी।

story

Thanks to technology…
दोनो के मन मे तितलियाँ उड़ने लगी…
TO BE CONTINUED…………😊😊

किंज़ा(kinzaa)…..




3 thoughts on “सूर्य(surya) की रोशनी की कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52