दैनिक जीवन

Healthcare and beauty

Rajasthan में 22 मरीजों में मिला जीका वायरस, मोदी ने रिपोर्ट मांगी; बिहार में अलर्ट

Follow on

Rajasthan में 22 मरीजों में मिला जीका वायरस, मोदी ने रिपोर्ट मांगी; बिहार में अलर्ट | केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कंट्रोल रूम बनाया, स्पेशल टीम जयपुर भेजी गई | 2017 में अहमदाबाद में भी जीका वायरस के तीन मामले सामने आए थे

जयपुर. राजस्थान में अब तक 22 मरीजों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि राजस्थान में जीका वायरस के मामले सामने आने के बाद नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल में कंट्रोल रूप स्थापित किया गया है। एक स्पेशल टीम जयपुर भेजी गई है। सेंपल जांच के लिए पुणे की लैब में भेजे गए हैं। प्रधानमंत्री ने भी इस मामले पर रिपोर्ट तलब की है। बिहार में भी जीका वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

प्रभावित इलाकों में गर्भवतियों की जांच

  1. मंत्रालय ने बताया कि राजस्थान में जीका वायरस प्रभावित इलाकों में जांच के लिए अतिरिक्त किट उपलब्ध कराई गई है। ऐसे इलाकों में गर्भवतियों की जांच की जा रही है। मॉनीटिरिंग के लिए समिति गठित की गई है।
  2. जयपुर के संक्रमित मरीजों में एक बिहार निवासी

    बिहार सरकार ने जीका वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया है। जयपुर में जीका संक्रमित मरीजों में से एक सिवान का रहने वाला छात्र है। उसके परिजनों की भी जांच की जा रही है।

  3. सबसे पहले पुणे में मिला था जीका वायरस

    एक हफ्ते पहले पुणे की नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलोजी लैब की जांच रिपोर्ट में शास्त्री नगर निवासी एक युवक में जीका वायरस की पुष्टि हुई थी। पहले भी शास्त्री नगर की ही 85 वर्षीय बुजुर्ग महिला में जीका वायरस मिला था।

ऑर्गन फेलियर और नवजात को ब्रेन डैमेज का खतरा

  1. 1947 में सबसे पहले युगांडा में मिला था जीका वायरस। एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैलता है। मई 2017 में अहमदाबाद में 3 केस मिले थे।
  2. एसएमएस मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर डॉ. रमेश मिश्रा का कहना है कि जीका में कई बार लक्षण नहीं दिखते है। बीमारी बढ़ने पर न्यूरोलॉजिकल और ऑर्गन फेलियर हो सकते हैं।
  3. गर्भावस्था के दौरान नवजात में न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर और ब्रेन डैमेज तक हो सकता है। आर्बो वायरस समूह का फ्लेवी वायरस है। जांच की सुविधा जयपुर में नहीं है। पुणे में जांच संभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *