दैनिक जीवन

Healthcare and beauty

SMOKING की लत छूट जाएगी मदिरा पान छोड़ने से, जानें कैसे

Follow on

SMOKING  की लत छोड़ना इस बार आपके नए साल का संकल्प है तो आपको मदिरा पान की लत भी छोड़नी पड़ेगी। एक नए अध्ययन के अनुसार, SMOKING छोड़ने की कोशिश कर रहे अत्यधिक मदिरा पान करने वाले लोग यह पाएंगे कि कम मदिरा पान से उन्हें रोज SMOKING करने की लत छोड़ने में भी मदद मिल सकती है।

यह अध्ययन पत्रिका निकोटिन एंड टोबैको रिसर्च में प्रकाशित हुआ है। अत्यधिक मदिरा पान करने वाले लोग अगर अपनी इस आदत पर नियंत्रण पा लेते हैं तो उनकी निकोटिन मेटाबोलाइट दर कम होती है। पहले के शोध से भी यह पता चला है कि अत्यधिक निकोटिन मेटाबोलिज्म दर वाले लोग अधिक SMOKING करते हैं और उन्हें यह आदत छोड़ने में भी काफी मुश्किल होती है। अमेरिका में ओरेगोन स्टेट यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर सारा डर्मोडी ने बताया कि कम मदिरा पान करने से किसी व्यक्ति की निकोटिन मेटाबोलिज्म दर कम होना उसे SMOKING छोड़ने में मदद कर सकती है जो कि एक मुश्किल काम है।

इसका सीधा फायदा जेब के साथ साथ सेहत को भी होता है.

ब्रिटेन की सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा एनएचएस के मुताबिक़, शराब घटाने पर आपको अपने शरीर में ये बदलाव दिखने लगेंगे:

  • सुबह उठने पर बेहतर महसूस होगा
  • दिन में कम थकान होगी
  • ज़्यादा फ़िट महसूस करेंगे
  • वज़न कम होने लगेगा या बढ़ना बंद हो जाएगा

ये बदलाव आपको तुरंत ही महसूस होने शुरू हो जाएंगे. अगर आप लगातार शराब घटाते रहें या छोड़ दें तो आपको शरीर में लंबे समय तक रहने वाले ये चार बदलाव नज़र आएंगे.

नींद बेहतर आने लगेगी :-

हालांकि शराब पीने के बाद बड़ी जल्दी नींद आ जाती है लेकिन यह गहरी नींद नहीं होती. 2013 में विज्ञान के एक जर्नल ‘अल्कोहोलिज़्म’ में नींद पर शराब के असर से जुड़ी एक रिपोर्ट छपी जिसमें बताया गया कि किसी भी मात्रा में शराब पीने से नींद तो तुरंत आ जाती है, नींद के पहले चरण में गहरी नींद भी आती है लेकिन दूसरे चरण में नींद बार-बार टूटती है. एनएचएस के मुताबिक, शराब का सेवन घटाने पर आप सुबह ज़्यादा तरोताज़ा महसूस करते हुए उठेंगे.

बीमारियों से लड़ने की बेहतर क्षमता :-

बहुत ज़्यादा शराब पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता घट जाती है जिससे कई तरह की बीमारियां होने का ख़तरा बढ़ जाता है. एनएचएस के मुताबिक़ जो लोग बहुत शराब पीते हैं उन्हें संक्रामक बीमारियां जल्दी पकड़ लेती हैं. ऐसा होता है क्योंकि ज़्यादा शराब साइटोकिन बनने में रुकावट डालती है. साइटोकिन वे तत्व हैं जो शरीर की इंफ़ेक्शन से लड़ने की ताक़त में अहम भूमिका निभाते हैं.अमरीका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ अल्कोहल एब्यूज़ एंड एल्कोहोलिज़्म की एक रिपोर्ट कहती है कि शराब पीने के 24 घंटे बाद तक शरीर में साइटोकिन का निर्माण धीमा रहता है.

बेहतर मूड :-

एनएचएस के मुताबिक़ शराब और अवसाद में गहरा रिश्ता है. हैंगओवर से भी लोगों का मूड अक़सर ख़राब हो जाता है और उन्हें बेचैनी महसूस होती है. अगर आप पहले से ही निराश या दुखी हैं तो शराब इन भावनाओं को और बढ़ा सकती है. एनएचएस के मुताबिक़ शराब की मात्रा घटाने से आपका मूड बेहतर हो सकता है.

त्वचा बेहतर हो जाएगी :-

बहुत से लोगों को शराब छोड़ते ही अपनी त्वचा में बदलाव नज़र आने लगता है. अमरीका के एसोसिएशन ऑफ़ डर्माटॉलॉजी के मुताबिक़ शराब त्वचा के लिए बुरी है. यह त्वचा को सुखाती है और धीरे-धीरे बर्बाद कर देती है जिससे शराब पीने वाला व्यक्ति अपनी उम्र से बड़ा नज़र आने लगता है.

 

One thought on “SMOKING की लत छूट जाएगी मदिरा पान छोड़ने से, जानें कैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *