d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52

छावनी बन गईं राम भूमि अयोध्या चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात By:- Prajapati

Follow on

विश्व हिन्दू परिषद ने अयोध्या में धर्म सभा का आयोजन किया। जहां पर 1992 के कार सेवा के बाद पहला ऐसा मौका था जब इतनी बड़ी तादाद में राम भक्त एकजुट हुए। वीएचपी का दावा था कि यहां पर लाखों की संख्या में लोग आएंगे।

राम भक्तों का जमावड़ा ऐसे वक्त पर हुआ है जब 16वीं सदी का ढांचा ढहाए जाने की 26वीं बरसी को दो हफ्ते से भी कम का वक्त बचा है। जिसके चलते रामनगरी अयोध्या और देश के अन्य हिस्से में हिंसा भड़क उठी थी। इससे पहले, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केन्द्र पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए राम नाम का इस्तेमाल न हो। उद्धव ने कहा कि चुनाव के समय राम नाम लिया जाता है और उसके बाद वे सो जाते हैं।

वीएचपी ने मुसलमानों से कहा- राम मंदिर की जमीन वापस कर दें

वीएचपी की धर्मसभा में मुसलमानों से यह कहा गया कि वे बीजेपी की तरफ से अध्यादेश लाने से पहले राम मंदिर के लिए जमीन वापस कर दें नहीं तो वे इसमें काशी, मथुरा और अन्य मंदिरों को भी शामिल करा लेंगे।

वीएचपी धर्मसभा में लिया गया राम मंदिर का संकल्प

विश्व हिन्दू परिषद की धर्मसभा में राम मंदिर का संकल्प लिया गया। हालांकि, संगठन की तरफ से किसी तरह की तारीख पर फैसला नहीं हुआ और न ही अध्यादेश की मांग की गई।

आरएसएस ने कहा- हिन्दू चाहते हैं अयोध्या, काशी और मथुरा

आरएसएस के कृष्ण गोपाल ने कहा कि हिन्दू अयोध्या, काशी और मथुरा चाहते हैं। इस धर्मसभा में जो भी निर्णय होगा उसे हम मानेंगे।

भीड़ तक नजर रखने के लिए ड्रोन से की जा रही है निगरानी: एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर)

एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने कहा कि सीएपीएफ (सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स), पीएसी (प्रोविंशियल आर्म्ड कांस्टुबलरी), एटीएस (एंटी टेरर स्क्वॉड) की तैनाती की गई है। भीड़ पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे की तैनाती की गई। 13 पार्किंग स्पॉट्स तैयार किए गए हैं, जहां पर 2000 बसे कई जगहों से अध्याया आएंगी।

जनता की भावना को देखते हुए राम मंदिर निर्माण पर हो निर्णय

अयोध्या में विहिप की धर्मसभा में महंत नृत्यगोपाल दास ने कहा कि जनता की भावना को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शीघ्र मंदिर का निर्माण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन दोनों से लोगों को बड़ी आशाएं है।

राम मंदिर बनने के भी साक्षी रहेंगे

धर्मसभा की अध्यक्षता कर रहे स्वामी परमानंद ने कहा कि वह राम मंदिर बनने के भी साक्षी रहेंगे। उन्होंने उम्मीद है कि सरकार किसी को निराश नहीं करेगी।

‘भव्य राम मंदिर का निर्माण दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती’

विहिप की धर्मसभा के बीच पद्म विभूषण जगतगुरु स्वामी रामभद्राचार्य ने कहा, केंद्र की मोदी सरकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 11 दिसंबर के बाद कभी भी अध्यादेश ला सकती है। उन्होंने कहा कि अब भव्य राम मंदिर का निर्माण दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती

अयोध्या में मस्जिद शिवसेना ने गिराई थी भाजपा ने नहीं : आजम खां

सपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आजम खां ने कहा, अयोध्या में मस्जिद शिव सेना ने गिरायी थी, भाजपा ने नहीं, ये तो श्रेय ले रहे हैं। गुलावठी में सपा नेता निसार की बहन के निकाह में शिरकत करने आये पूर्व मंत्री आजम खां ने भाजपा का नाम लिए बगैर प्रहार करते हुए कहा कि 6 दिसंबर 1992 को डायनामाइट लगाकर अयोध्या में मस्जिद ढहा दी तब बहादुरी का काम किया था और अब बहादुरी का काम करने जा रहे हैं। 1996 में भी अयोध्या में फ़ोर्स थी, सेना थी, तब मुट्ठी भर मुसलमान कुछ नहीं कर पाए तो अब भी क्या कर लेंगे। ये राम का मंदिर बनाएं तो भी अच्छा, न बनाए तो भी अच्छा। लेकिन ये मंदिर के नाम पर सिर्फ राजनीति कर रहे हैं।  अयोध्या से मुस्लिमों के पलायन को लेकर कहा कि मोदी जी बताएं कि कहाँ जाएं, अयोध्या क्या हम तो देश से जाने को तैयार हैं। मोदी जी ने लोगों के हाथ में कलम व रोजगार की जगह झाड़ू दे दी, ये है हमारा मुकद्दर।

भगवा झंडा लिए आगे बढ़ रहे आरएसएस, विहिप, बजरंग दल कार्यकर्ता

धर्म सभा में भाग लेने के लिए पहुंच रहे आरएसएस, विहिप, बजरंग दल और भाजपा समेत संघ परिवार के अन्य अनुषंगिक संगठनों के सदस्य हाथों में भगवा ध्वज लहराते हुए धर्म सभा के मार्ग पर आगे बढ़ रहे हैं।

रामलला के दर्शन करने मंदिर पहुंचे उद्धव ठाकरे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे रामलला के दर्शन करने मंदिर पहुंच चुके हैं। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी रश्मी और बेटे आदित्या भी मौजूद हैं।परिवार के साथ उद्धव ठाकरे ने किए रामलला के दर्शन। दर्शन के बाद सुबह 11  शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

d8eef6a56c99d87b81e4fd3ff23419d8d21bfd52